झारखंड किसान सशक्तिकरण अभियान उद्घाटन दिनांक 22 नवंबर 2018 बोकारो!

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय एवं उसकी सहयोगी संस्था राज योगा एजुकेशन एंड रिसर्च फाउंडेशन ने अलग-अलग क्षेत्रों में शाश्वत योगिक खेती की जानकारी देने हेतु किसान सशक्तिकरण अभियान का शुभारंभ दिनांक 22 नवंबर 2018 को झारखंड के बोकारो स्टील सिटी से किया गया !

अभियान के अंतर्गत प्रदेश के चारों दिशाओं से चार दिव्य किसान सेवारत अलग-अलग क्षेत्रों के लिए रवाना किए गए इन अभियानों में ब्रम्हाकुमारी बहने मार्ग में अपने आने वाले गांवों कस्बों को शहरों में कार्यक्रम आयोजित कर किसान एवं ग्रामीण जनों को स्वस्थ और स्वच्छ जीवन के लिए सकारात्मक चिंतन को अपनाने तथा राजयोग द्वारा व्यसनमुक्ती मूल्य शिक्षा एवं तनाव मुक्त खुशहाल जीवन की जानकारी देंगे !
माउंट आबू से आए ब्रह्मा कुमार राजू भाई जी ने युवा संकल्प के माध्यम से शाश्वत योगिक खेती का पैगाम दिया नेशनल कोऑर्डिनेटर कृषि एवं ग्राम विकास प्रभाग ब्रम्हाकुमारी तृप्ति बहन ने वैष्णव का दान मांगा और कहा कि हमें किसानों को सशक्त करने का संकल्प लेना होगा !
हमारे मुख्य अतिथि श्री रणधीर कुमार सिंह कृषि मंत्री झारखंड सरकार ने दीप प्रज्वलित कर अपनी विधिवत उद्घाटन भाषण में किसान सशक्तिकरण हेतु हरसंभव प्रयास करने की तहे दिल से प्रशंसा किया !
विशिष्ट अतिथि विधायक श्री बिरंची नारायण जी ने विज्ञान और अध्यात्म के माध्यम से जीवन जीने को प्रेरित किया और डेंटम वॉल बनवाने के लिए अपने वायदे को सरकार के समक्ष रखने की बात कहीं !
योग के प्रयोग द्वारा खेती को तथा किसान भाइयों को सशक्त बनाने के लिए ब्रह्माकुमार राजेंद्र भाई जी ने अनेको अनेक विधियां बताएं और सभा में उपस्थित सभी लोगों का मन मोह लिया! सभी गणमान्य नागरिक और सैकड़ों किसान भाइयों-बहनों ने ब्रह्माकुमारीज कि इस सराहनीय प्रयास को भरपूर प्रशंसा की !

Bokaro : Gram Vikas Training

a. Sri Sandeep Kumar ji (Director of DRDA Bokaro)
b. Badri Vishal Tiwari (Astt. Director of agricultural dept., lakhnaw, U.P ) .
c. Bk Sumanth kumar , HQ. Co-ordinator , Agricultur & Rural Development Wing (RERF).

Governor of Jharkhand HE Mrs. Draupadi Murmu Inaugurates Raj Yoga Bhawan and Peace Hall in Bokaro

bokaro

Rajyog Shivir

संसार का हर मनुष्य सुख–शांति की तलाश में रोज मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरूद्वारे में गुहार लगा रहा है। पूजा, पाठ, आरती, व्रत, उपवास, तीर्थ आदि धक्के खा खाकर इंसान थक गया है लेकिन सुख शांति आज भी कोसों दूर है.. बल्कि दुख, अशांति बढ़ती जा रही है, इसका एकमात्र कारण है देह अभिमान में वृद्धि होना और इन सब समस्याओं का एकमात्र निवारण और सुख, शान्ति का एकमात्र रास्ता स्व आत्मा का ज्ञान और परमात्मा की सही पहचान । इसी सत्य ईश्वरीय ज्ञान से और ईश्वर प्रदत्त राजयोग मेडिटेशन से सच्ची सुख, शान्ति का खजाना सहज ही मिल जाता है और सारा जीवन तनाव मुक्त होकर खुशहाल हो जाता है।”

जिसमें प्रात: 10 से 12 एवं संध्या 5 से8 बजे तक राजयोग मेडिटेशन का नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जायेगा